Thursday, July 18, 2024

यूपी में आरक्षण के मुद्दे पर अखिलेश यादव ने कह दी ये बात, जानें क्या कहा?

लखनऊ : यूपी में सरकारी नौकरियों का मुद्दा दिन पर दिन तेज होता जा रहा है। ऐसे में केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के बाद अब सपा सुप्रीमों और कन्नौज से सांसद अखिलेश यादव ने 18वीं लोकसभा सत्र के दौरान प्रदेश में सरकारी नौकरियों के मुद्दे को लेकर सवाल किया। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान सपा नेता ने कहा कि आपके राज में न नौकरी की उम्मीद हैं, न रोजगार की। आपने छोटे कारोबारी को इतना छोटा बना दिया है कि न तो वो अपना पेट भर सकता है न ही किसी को नौकरी दे सकता है।

लैटरल एंट्री के जरिए कुछ विशेष लोगों को दिया जाता मौका

आरक्षण के मुद्दे पर अखिलेश यादव ने आगे कहा कि लैटरल एंट्री के नाम पर कुछ व्यक्ति विशेष को आप नौकरी देते हैं और आरक्षण के साथ इतना खिलवाड़ इस सरकार ने किया उतना किसी सरकार के राज में नहीं दिखा। साथ ही पेपर लीक मुद्दे को लेकर कहा, “पेपर लीक क्यों हो रहे हैं? सच्चाई तो यह है कि सरकार इसलिए ऐसा कर रही है ताकि देश की युवाओं को नौकरी नहीं देना पड़ें “.

जानें अनुप्रिया ने क्या कहा था?

बता दें कि कुछ दिन पहले केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया ने सीएम योगी को पत्र लिख कर OBC अभ्यार्थी की भर्ती को लेकर सवाल किए थे। उन्होंने पत्र लिखते हुए साक्षात्कार के आधार पर मिलने वाली नौकरियों में पिछड़े और दलितों की अनदेखी करने का मुद्दा उठाया था. उन्होंने साफ़ तौर से पत्र में लिखा था कि राज्य सरकार की साक्षात्कार वाली भर्तियों में OBC, SC और ST के अभ्यर्थियों का चयन नहीं किया जाता है.

मिर्जापुर सांसद ने भी लगाया आरोप

वहीं मिर्जापुर सांसद ने भी आरोप लगाया था कि उन्हें योग्य नहीं कहकर छांट दिया जाता है. बाद में इस पद को अनारक्षित घोषित कर दिया जाता है. अनुप्रिया ने आग्रह किया कि इस व्यवस्था पर जल्द से जल्द रोक लगाते हुए कार्रवाई की जाए. इस दौरान उन्होंने सीएम योगी को अभ्यर्थियों में पैदा हो रहे आक्रोश को भी बताया।

Latest news
Related news